Born on Sunday: होते हैं महत्वाकांक्षी ,आत्मविश्वासी, प्रभावशाली, सकारात्मक, नेतृत्वकर्ता, मेहनती और संवेदनशील

Born on Sunday: जानें क्या होती है खासियत- व्यवहार, सफलता, करिअर और भी बहुत कुछ

रविवार को जन्मे लोगों की महत्वाकांक्षाएं बहुत अधिक होती हैं और उनके जीवन में आत्मविश्वास भी चरम पर होता है। रविवार को जन्मे लोग लीक से हटकर सोचने के आदी होते हैं और वे अपने अंदर सर्वोत्तम विचारों की कल्पना करते हैं। ऐसे व्यक्तित्व विशेष रूप से अपने जीवन में कठिनाई की आवश्यकता पर उपयुक्त विचार और समाधान उत्पन्न करने की क्षमता रखते हैं। वास्तव में, आप कह सकते हैं कि जिन लोगों को किसी भी गंभीर स्थिति के लिए विचारों या समाधान के संदर्भ में किसी भी मदद की आवश्यकता है, आप उनसे संपर्क कर सकते हैं, निश्चित रूप से आपको सर्वोत्तम विचार मिलेंगे। रविवार को जन्मे लोग अपने व्यक्तित्व से प्रभावशाली, सकारात्मक, प्रसिद्ध, नेतृत्वकारी, मेहनती और थोड़े संवेदनशील भी होते हैं।

रविवार को जन्मे लोगों का व्यक्तित्व सूर्य द्वारा शासित होने के कारण, ये लोग हमेशा आकर्षण का केंद्र बने रहना चाहते हैं और अपने घरेलू और सामाजिक मोर्चे पर राज करना चाहते हैं। अक्सर लोगों के जहाँ मे यह सवाल होता है कि आखिर रविवार को जन्म का क्या मतलब है और ऐसे लोगों कि क्या खासियत होती है। दोस्तों, रविवार को जन्म लेने वाले लोगों कि सबसे बड़ी विशेषता होती है कि ऐसे लोग अक्सर रचनात्मक, आत्मविश्वासी और आशावादी होते हैं जो सुर्खियों में रहना पसंद करते हैं और दूसरों के साथ घुलना-मिलना पसंद करते हैं। आइये जानते हैं रविवार को जन्म लेने वाले लोगों की खासियत, उनके लिए रखे जाने वाले नाम तथा अन्य विशेषताएं विशेषज्ञ हिमांशु रंजन शेखर (एस्ट्रॉलोजर और मोटिवेटर) द्वारा.

 ऐसे लोग अपने परिवार के लिए खास होता हैं और भरपूर मौज-मस्ती और उद्देश्यपूर्ण जीवन उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता होती है। हालाँकि वे अधिकांश समय आश्वस्त दिखाई देते हैं, लेकिन परेशानियों और चुनौतियों का सामना करते समय वे गंभीर रूप से व्यथित हो सकते हैं। वे केवल उन्हीं लोगों से मित्रता करेंगे जो उन्हें केंद्र में रहने की अनुमति देंगे। 
  • वे आत्मविश्वासी और दृढ़निश्चयी होते हैं।
  • वे नेतृत्व क्षमताओं से भरपूर होते हैं।
  • वे साहसी और जोखिम लेने वाले होते हैं।
  • वे मिलनसार और सामाजिक होते हैं।
  • वे सफलता के लिए प्रतिबद्ध होते हैं।

 रविवार का दिन अद्भुत और खास

विश्व की लगभग अधिकांश हिस्सों में रविवार का दिन अद्भुत और खास होता है जिसे परंपराओं में सप्ताह का पहला दिन माना जाता है। लोग रविवार का उपयोग आने वाले सप्ताह की तैयारी, आराम के साथ ही अपने परिवार के सदस्यों के साथ देता पसंद करते हैं। कुल मिलाकर रविवार का दिन खास दिन होता है जिसका  इन्तजार परिवार के सभी सदस्यों को रहता है. और ज्योतिष के अनुसार ऐसा मान्यता है कि इस अद्भुत दिन का स्वामी सूर्य है और दिन को जन्मे लोग सचमुच सूर्य की तरह चमकते सितारे होते हैं।

आकर्षक व्यक्तित्व के स्वामी 

रविवार का दिन सूर्य ग्रह से विशेष रूप से प्रभावित होता है और आप जानते हैं कि सूर्य हमेशा के हमारी सौर्य मंडल का केंद्र रहा है. ठीक उसी प्रकार से रविवार को जन्म लेने वाले लोगों का व्यक्तित्व भी आकर्षक होता है. इसके साथ ही sunday को जन्म लोगों का कद, लम्बा, चौड़ी छाती, चेहरे का रंग साफ होता है. ऐसे व्यक्ति साहसी, धर्मात्मा, दानी, मेधावी, हंसमुख और महत्वाकांक्षी होते हैं. ऐसे व्यक्ति बल पूर्वक न्याय हासिल करना चाहतें हैं. कोई इन पर रहम करें यह उन्हें पसंद नहीं होता. इस दिन उत्पन्न व्यक्ति अपनी बातों के पक्के होते हैं. इनके पास पैसों की कमी नहीं रहती है, ये अपने बल पर पैसे कमाने की क्षमता रखते हैं.

रविवार को जन्मे लोग करियर: 

रविवार को जन्मे लोग अपने करियर में भी हमेशा स्वतंत्रता और स्वतंत्रता पसंद करते हैं। सामान्यत: ऐसे  लोग उन व्यवसायों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं जिसे वे अकेले करते हैं. अर्थात आप कह सकते हैं कि ऐसे लोग  समझौता नहीं करना चाहते हैं. नेतृत्व की भूमिकाएँ आपके लिए सबसे उपयुक्त रहेंगी। आपकी चतुराई और आत्म-प्रेरणा आपको अपने करियर के लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त करने के लिए प्रेरित करेगी। हालाँकि, किसी संगठन के लिए काम करते समय यह आवश्यक है कि आप एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम होने के लिए दूसरों के प्रति सहिष्णुता विकसित करें।

 स्वतंत्रता पसंद

रविवार को जन्मे लोग प्यार में रविवार को जन्मे व्यक्ति के रूप में आप हमेशा स्वतंत्रता पसंद करते हैं। अंतर्मुखी एवं शर्मीले स्वाभाव के होने के इनके मित्रों की संख्या सीमित हो सकती है. धोखा मिलने के डर से आप आसानी से दूसरों पर भरोसा नहीं करते और इसका असर आपके लाइफ पार्टनर के चुनाव पर भी पड़ सकती है  हालाँकि, एक बार जब आपको सही व्यक्ति मिल जाए जिस पर आप भरोसा कर सकें, तो आप उनसे बिना शर्त प्यार करना शुरू कर देंगे। 

जिद्दी और गुस्सैल स्वभाव 

ऐसे लोग सामान्यता: जिद्दी और गुस्सैल स्वभाव और जल्दी हार नहीं मानने वाले होते हैं. इस स्वाभाव का असर आपको पर्सनल जीवन से लेकिन प्रोफेशनल और अन्य जगहों पर भी देखने को मिल सकती है. ऑफिस में, स्कूल या कॉलेज या अपने दोस्तों के साथ भी आपको इस स्वाभाव के कारण परेशानियों को झेलना पड़ेगा इसलिए यह अच्छा होगा की समझौतावादी होना सीखें और हर जगह अपनी बातों को ऊपर रखने से बच्चें भले हीं वह पर्सनल मैटर हो या प्रोफेशनल. 

 घरेलू और सामाजिक जीवन में संतुलन जरुरी 

रविवार को जन्मे जातकों के दांपत्य जीवन और सामाजिक में मिश्रित संभावनाएं रहेंगी। आप एक मिलनसार व्यक्ति हैं और जीवन में अपनी प्राथमिकताओं का आनंद लेने के लिए अपना व्यक्तिगत स्थान और स्वतंत्रता चाहेंगे। आपको अपने घरेलू और सामाजिक जीवन में संतुलन बनाना मुश्किल होगा। एक अच्छी समझ विकसित करने और अपने साथी की भावनात्मक जरूरतों पर विचार करने से एक सफल वैवाहिक जीवन सुनिश्चित होगा. 


========

अस्वीकरण: कृपया ध्यान दें कि लेख में उल्लिखित टिप्स/सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से हैं ताकि आपको उस मुद्दे के बारे में अपडेट रखा जा सके जो आम लोगों से अपेक्षित है. आपसे निवेदन है कि कृपया इन सुझावो को  पेशेवर ज्योतिषीय सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए तथा अगर आपके पास इन विषयों से सम्बंधित कोई विशिष्ट प्रश्न हैं तो हमेशा अपने ज्योतिषी या पेशेवर ज्योतिष/कुंडली सुझाव प्रदाता से अवश्य परामर्श करें।






नालंदा विश्वविद्यालय, बिहार: जिसकी विरासत आज भी विद्वानों और छात्रों को प्रेरित करती है-Five Facts

Nalanda University five facts you need to know

नालंदा विश्वविद्यालय भारत के प्राचीन मगध (आधुनिक बिहार) राज्य में एक बौद्ध महाविहार (मठ-विश्वविद्यालय) था। यह स्थल पटना से लगभग 95 किलोमीटर (59 मील) दक्षिण-पूर्व में बिहार शरीफ़ शहर के पास स्थित है, और पाँचवीं शताब्दी ई. से 1200 ई. तक शिक्षा का केंद्र था। यह यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है।

 नालंदा विश्वविद्यालय वास्तव में एक अद्वितीय संस्थान था और इसका दुनिया में ज्ञान के विकास पर गहरा प्रभाव पड़ा। यह शिक्षा के महत्व और दुनिया को बदलने के लिए ज्ञान की शक्ति की याद दिलाता है।

  • इसकी स्थापना 5वीं शताब्दी ई. में गुप्त साम्राज्य द्वारा की गई थी। यह दुनिया के पहले विश्वविद्यालयों में से एक था, और इसने पूरे एशिया से विद्वानों को आकर्षित किया।
  • यह बौद्ध धर्म, दर्शन, गणित, खगोल विज्ञान और चिकित्सा के अध्ययन का केंद्र था।
  • इसमें 9 मिलियन से अधिक पुस्तकों वाला एक बड़ा पुस्तकालय था।
  • इसे 1193 ई. में बख्तियार खिलजी की आक्रमणकारी सेना ने नष्ट कर दिया था।
  • इसे 21वीं सदी में एक आधुनिक विश्वविद्यालय के रूप में फिर से बनाया गया।
  • नालंदा विश्वविद्यालय 700 से अधिक वर्षों तक दुनिया में शिक्षा के सबसे महत्वपूर्ण केंद्रों में से एक था।
  • यह एक ऐसा स्थान था जहाँ पूरे एशिया से विद्वान दर्शन, धर्म और विज्ञान के महान प्रश्नों का अध्ययन और बहस करने आते थे।
  • नालंदा का विनाश दुनिया में ज्ञान के विकास के लिए एक बड़ा झटका था, लेकिन इसकी विरासत आज भी विद्वानों और छात्रों को प्रेरित करती है।
  • विश्वविद्यालय को 8 कॉलेजों में विभाजित किया गया था, जिनमें से प्रत्येक एक अलग विषय में विशेषज्ञता रखता था।
  • नालंदा के छात्रों को बौद्ध धर्म, दर्शन, गणित, खगोल विज्ञान और चिकित्सा सहित कई विषयों का अध्ययन करना पड़ता था। विश्वविद्यालय में 9 मिलियन से अधिक पुस्तकों वाला एक बड़ा पुस्तकालय था। नालंदा के शिक्षकों का बहुत सम्मान किया जाता था और वे पूरे एशिया से आते थे।
  •  विश्वविद्यालय संस्कृत से अन्य भाषाओं में ग्रंथों के अनुवाद का केंद्र था। नालंदा विश्वविद्यालय बौद्ध धर्म के प्रसार का एक प्रमुख केंद्र था।

नजरिया जीने का: स्वयं पर विश्वास करें, आपके भीतर की क्षमता, सामने की समस्या से ज्यादा ताकतवर है

नजरिया जीने का:  प्रकृति ने हम सभी को अपने आप में बहुत ज्यादा ताकत, सूझबूझ और अपार संभावनाएं दी हैं। विश्वास करें, प्रत्येक व्यक्ति के अंदर ऊर्जा का भण्डार छुपा है और हमें सिर्फ  इस पर विश्वास करना है कि  हमारे अंदर की क्षमता और शक्ति के सामने समस्या और बाधा कुछ भी नहीं है। 

एक बार अगर हम खुद पर और अपनी अंदर छुपे सामर्थ्य पर विश्वास करना अगर सीख लें तो फिर हम सब कुछ कर सकते हैं। इस लेख के माध्यम से आप सीखेंगे कि कैसे अपनी क्षमता और ऊर्जा पर विश्वास किया जाए ताकि हम जीवन के रास्ते में आने वाली बाधाओं को दूर कर सकें।

अपनी क्षमता पर विश्वास करना स्वयं से बात करने की प्रक्रिया है जो आत्म संदेह को दूर करने और आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए आवश्यक शर्त है।

 हम पड़ाव को समझे मंज़िल

 लक्ष्य हुआ आंखों से ओझल

 वतर्मान के मोहजाल में-

आने वाला कल न भुलाएँ।

 आओ फिर से दिया जलाएँ।

-अटल बिहारी वाजपेयी


हम समस्याओं और बाधाओं को और  भी विकराल बनाकर देखने लगते है जो  खुद को कम  आंकने की प्रक्रिआ का आरम्भ हो जाता है, जबकि जरुरी यह है कि उसके बदले में, अपने भीतर छिपी संभावनाओं और संभावनाओं को देखने की पूरी कोशिश करनी चाहिए  जो इन बाधाओं को कुचलने में  आपका व्यापक हथियार हैं।

Inspiring  Thoughts: आपकी प्रसन्ता में छिपा  है जीवन की सफलता का रहस्य.... 

इस संदर्भ में रॉय टी. बेनेट के सुंदर उद्धरण को याद रखें "अपने आप पर विश्वास करें। आप जितना सोचते हैं उससे कहीं अधिक बहादुर हैं, आप जितना जानते हैं उससे कहीं अधिक प्रतिभाशाली हैं, और आप जितना सोचते हैं उससे कहीं अधिक सक्षम हैं। ”

धैर्य और आत्मविश्वास का नहीं छोड़े दामन.... मिलेगी विपरीत परिस्थितियों में भी सफलता

कहने की जरूरत नहीं है कि मनुष्य इस अजीब सच से पीड़ित है कि वह जानता तो सही है लेकिन करता गलत है.... आप खुद पर और अपने  आस  पास के लोगों पर नजर डालें तो शायद यही पाएंगे....  और इसलिए हम बाधाओं से पहले अपनी क्षमता को अनदेखा कर देते हैं।

हमें अनंत क्षमता प्रदान करने में प्रकृति ने हमारे बीच कोई पक्षपात नहीं किया है। हम सभी के पास ऊर्जा और संभावनाओं के साथ महान क्षमता है और यह केवल हम ही हैं जो हमारी क्षमता और ऊर्जा की सीमा निर्धारित करते हैं। हां, बाधाओं और कठिनाइयों का महिमामंडन करना और कुछ नहीं बल्कि हमारी क्षमता की सीमा तय करना है।

मुसीबतों को देख कर क्यों डरता है,

तू लड़ने से क्यों पीछे हटता है।

किसने तुमको रोका है,

तुम्ही ने तुम को रोका है।

भर साहस और दम, बढ़ा कदम,

अब इससे अच्छा कोई न मौका है।

-नरेंद्र वर्मा


Inspiring Thoughts: साहस को अपनाएँ... सफलता की कहानी खुद लिखें...


इस तथ्य पर विश्वास करें कि जैसे ही आप अपने मन में यह तथ्य पैदा करते हैं कि आपके पास किसी समस्या का समाधान है या आप किसी भी कठिन परिस्थिति को संभाल सकते हैं, न केवल आपका दिमाग बल्कि पर्यावरण और प्रकृति भी आपके समाधान के तरीके प्रदान करना शुरू कर देती है। बस आपको किसी समस्या के समाधान के बारे में सोचना है, आपको समस्या का समाधान अपने संसाधनों के भीतर और निश्चित समय सीमा के साथ मिल जाएगा।

Inspiring Thoughts: डिप्रेशन और फ़्रस्ट्रेशन पर काबू पाने के लिए पाएं नेगेटिव माइंडसेट से छुटकारा

नजरिया जीने का: विपत्तियां यह अहसास दिलाती हैं कि आप किस मिटटी के बने हैं, घबराएं नहीं सामना करें

Opportunity in Adversity
नजरिया जीने का: जब हम मुश्किलों का सामना करते हैं, तभी हमारी तैयारियां और अपने शक्ति का एहसास होती है। जीवन का यथार्थ भी यही है कि यह मुश्किल समय हीं है जो हमें सिखाता है कि हम कितने मजबूत और लचीले हैं। निसंदेह विपत्तियां दर्दनाक और चुनौतीपूर्ण होती हैं, लेकिन वे हमें सिखाने और विकसित करने के लिए भी अमूल्य अवसर प्रदान करती हैं। अगर हम इन अनुभवों से सीखने और बढ़ने के लिए तैयार रहें, तो हम मजबूत और अधिक पूर्ण जीवन जी सकते हैं।

"कठिनाई ही असली परीक्षा है जिससे मजबूत आत्माएं विकसित होती हैं।" - महात्मा गांधी

 विश्वास करें, विपतियों या मुसीबतों के सामना करने के समय हमारे पास दो विकल्प होते हैं- या तो हम उनके सामने समर्पण कर लें या उनका सामना करने का हिम्मत पैदा करें। जो लोग विपत्तियों का सामना सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ करते हैं, वे अक्सर अधिक लचीले, दृढ़निश्चयी और आत्मविश्वासी बन जाते हैं। उनका सामना करने कि यह शक्ति हमें अपनी कमजोरियों को खत्म करने और उन पर विजय प्राप्त करने का अवसर देता है। विपत्तियां हमें दूसरों के प्रति करुणा और सहानुभूति विकसित करने में भी मदद करती हैं।

अंधेरे में ही तारे चमकते हैं। - मार्टिन लूथर किंग जूनियर

विपत्तियां जीवन का एक हिस्सा हैं और वास्तव में विपत्तियां हमारे ज्जीवन की वह आकस्मिक घटनाएं होती हैं जो हमारे जीवन में परेशानी और दुःख लाती हैं। विपत्तियाँ अक्सर नकारात्मक मानी जाती हैं, क्योकि इसके आगमन के साथ ही हमारे जीवन में उथल पुथल आ जाती ही यही हमारा सामान्य जीवन को ब्रेक सा लग जाता है. विपत्तियाँ अक्सर नकारात्मक मानी जाती हैं, लेकिन, यदि हम उनका सामना सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ करते हैं, तो वे हमें बेहतर इंसान बनने में मदद कर सकती हैं. हालांकि, विपत्तियाँ अक्सर नकारात्मक मानी जाती हैं, लेकिन वे हमारे जीवन में सकारात्मक भूमिका भी निभा सकती हैं। 

सच तो है है कि यह हमारे जीवन में आने वाली विपत्तियां हीं होती है जो हमारे साहस और धैर्य और दूसरों की मदद करने की भावना का अहसास दिलाती है. विपत्तियां के केवल हमें यह बताती है कि हम किस मिट्टी के बने हैं बल्कि यह हमें समस्याओं को सुलझाने की क्षमता और जीवन के मूल्यों को समझने की क्षमता भी विकसित करने में मदद करता है. 
"जो तुम्हें नहीं मारता वो तुम्हें मजबूत बनाता है।" - फ्रेडरिक नीत्शे

आपदा या विपरीत परिस्थितियों में माध्यम से नेचर या प्रकृति भी हमारी परीक्षा लेती है..... जीवन में जिसको जितना आगे जाना होता है उसके  रास्ते में प्रकृति उतना ही शूल और  कांटे बिछा के रखती है....... 
अगर आप उन कांटों के डर से वापस लौट जाएंगे तो आपकी यात्रा वहीँ  जायेगी....लेकिन याद रखें जिसे जीवन में जितना आगे जाना होता है उसे प्रकृति अपनी ओर से उतना ही ऊर्जा प्रदान कर उसे सकारात्मक ऊर्जाओं से पूर्ण कर भेजती है ताकि वे लोग लाइफ में मिलने वाले तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद वह अपने सफलता के कीर्तिमान स्थापित करते हैं.


विपत्तियों से निकलने के लिए सबसे जरुरी 

विपत्तियों से निबटना यह सच है की आसान नहीं होता लेकिन इंसान अगर ठान ले तो यह इतना मुश्किल भी नहीं होती. विपत्तियों का आना तो अपने हाथ में नहीं होती लेकिन आपकी मानसिक स्थिति, आपकी सोच और आपकी सकारात्मक सोच अवश्य ही इससे बाहर निकलने में मदद कर सकती है. विपत्तियों से निकलने के लिए सबसे जरुरी है कि सकारात्मक रहें। मुश्किल परिस्थितियों में भी सकारात्मक रहने की कोशिश करें। इससे आपको अपने लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित करने और आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। अपने परिवार, दोस्तों और समुदाय से मदद मांगने से न डरें। दूसरों की मदद से आप मुश्किल समय में बेहतर तरीके से निपट पाएंगे। अपने अनुभव से सीखें। विपत्तियों से सीखने से आपको भविष्य में बेहतर तरीके से तैयार रहने में मदद मिलेगी।
"हर मुसीबत अपने साथ एक उपहार लाती है, बस हमें उसे ढूंढना होता है।" - चीनी कहावत

आपदा में भी अवसर 

सच्चाई तो यह है कि इस आपदा में भी हमें अवसर की तलाश करनी होती है क्योंकि आपदा या विपरीत परिस्थितियां हमारे लिए एक अवश्यंभावी प्रहार  होती है जो हमारे वश में नहीं हो सकते.
क्या आपदा या बुरा समय हमसे पूछ कर आती है, नहीं ना. आपदा का आना हमारे लिए नियति है लेकिन यह हमारी सूझ- बुझ और इच्छाशक्ति होती है कि  हम  आगे टूट जाते हैं या उस आपदा में भी अवसर तलाश कर उससे निकलने का प्रयास करते हैं. 
"विपत्तियों से निपटने का सबसे अच्छा तरीका है कि हम उनका सामना करें।" - अल्बर्ट आइंस्टीन

अगर आप देखेंगे तो पिछले कुछ सालों से कोविड-19 नामक एक नए आपदा ने पूरी दुनिया को अस्त-व्यस्त करने के साथ ही कई देशों के विकास दर को न जाने कई साल  पीछे कर दिया है. कितने जानों को असामायिक काल के ग्रास में जाने को मजबूर होना पड़ा और कई परिवार तो छिन्न-भिन्न हो गए.
यह कहानी काफी लम्बी हो सकती है, न केवल हिंदुस्तान बल्कि दुनिया के सभी देशों में आपदा की स्थिति बन  चुकी थी  तो क्या हमें इस आपदा के भरोसे खुद को छोड़ देनी चाहिए थी ? 

आप अगर देखेंगे तो इस दौरान कई लोगों के व्यापार को जहां बंद तक करना पड़ा, लेकिन कई ऐसे लोग हैं जिन्हे इस आपदा ने भी रोगजार के अवसर प्रदान किये. वर्क फ्रॉम होम, ऑनलाइन पढ़ाई व्ययस्था, ऑनलाइन ट्यूशन  जैसे कई व्यवसाय थे जो कोरोना के कारण आज फल-फूल  रहे हैं. 
"विपत्तियां जीवन का हिस्सा हैं। उनसे बचना असंभव है। लेकिन हम उनसे कैसे निपटते हैं, यह हमारे ऊपर निर्भर करता है।" - डेल कार्नेगी

 याद रखें दोस्तों वह चाहे कोई भी विपरीत परिस्थिति  या आपदा हो आपको इस से निकलना होगा इसके लिए सबसे जरूरी यह है कि हमारे अंदर यह जिजीविषा पैदा करनी होगी हम इसे झेल  सकते हैं....

इस आपदा को एक अवसर  के रूप में देखकर जो इसका उपयोग कर लेगा लाइफ में आगे जाएगा इसमें कोई संदेह नहीं है. इसके लिए जरूरी है कि आप अपने एटीट्यूड और अपने माइंडसेट को बदलें क्योंकि यह आपका माइंडसेट  और एटीट्यूड ही है जो आपको इस आपदा में अवसर तलाश करने में मदद करेगा...

 याद रखें दोस्तों आपको इस आपदा से निकलने के लिए अपने अंदर साहस का संचार खुद करना होगा आपको अपने आसपास निराशावादी या नकारात्मक सोच के लोगों से खुद को दूर रखना होगा और इसके लिए यह जरूरी है कि सबसे पहले अपने अंदर सकारात्मक और पॉजिटिव ऊर्जा को कम नहीं होने दिया जाए.

"विपत्तियां हमें मजबूत बनाती हैं।" - नेल्सन मंडेला

याद रखें आपके जीवन में आपदाएं और विपत्तियां या  विपरीत परिस्थिति सभी परेशानियों के साथ ही आपके लिए एक नया सवेरा के रूप में  कई सारे अवसर भी लेकर आती है.

लेकिन यह आप पर निर्भर करता है कि आप इस आपदा में अवसर की तलाश कर उसे पाने के लिए होम कर देते हैं या एक निराशावादी की तरह बस इस आपदा के भरोसे खुद को छोड़ देते हैं.







नजरिया जीने का: असीमित सोच और विचारों को किसी सीमा से नहीं बांधे, ऊँचा सोचें और बड़ा लक्ष्य हासिल करें

najariya jine ka thinking ha no limit think high achieve big

अगर आप असीमित शब्द के सार्थकता को समझेंगे तो पाएंगे कि यह शब्द बहुत ही उपयोगी है क्योंकि यह आपको  विश्वास दिलाता है कि आप वह सब कुछ कर सकता हूं जो आप चाहते हैं। सच तो यही है कि यह आपकी असीमित सोच है जो आपके अंदर के विचारों को जागृत करता है और  संभावनाओं की याद दिलाता है, तब भी जब सारी परिस्थितियाँ मेरे विरुद्ध हों। असीमित सोच और असीमित विचारों पर विश्वास करके, आप असीमित चीजें हासिल कर सकते हैं हाँ इसके लिए पहल आपको हीं करनी होगी । 


सोचने की कोई सीमा नहीं है, इसलिए बड़ा सोचें और अपने जीवन में बड़ा हासिल करें क्योंकि हर व्यक्ति के अंदर अपार शक्ति है और हमें बस उसे प्रज्वलित करना है। प्रकृति ने हमें अपने जीवन में चमत्कार करने की अपार शक्ति और क्षमता प्रदान की है, लेकिन त्रासदी यह है कि हम दर्शक दीर्घा के बीच में फिट होने का आनंद लेते हैं। विडम्बना यह हैं कि प्रकृति ने तो हमें कोई भेदभाव नहीं किया हमें शक्ति और सामर्थ्य प्रदान करने में, लेकिन यह केवल हम ही हैं जो अपनी सोच को सीमा प्रदान करते हैं, इस तथ्य के बावजूद कि आपके पास इसे हासिल करने के लिए पर्याप्त शक्ति और ऊर्जा है।

आपके आस-पास होने वाली हर घटना को कुछ न कुछ सीमा प्रदान की गई है। चाहे वह सड़क हो, क्रेडिट/डेबिट कार्ड हो, आपका शरीर हो, आपके शरीर के अंग हों और यहां तक कि सभी अत्यधिक परिष्कृत और नवीनतम उपकरण हों, उनके उपयुक्त और मानक प्रदर्शन की अपनी सीमाएं हैं। यह केवल आपकी सोच है जिसकी कोई सीमा नहीं है और यह बहुत ऊपर तक जा सकती है क्योंकि आपके पास वास्तविक तर्क है और आपके संसाधन और दृष्टिकोण इसकी अनुमति देते हैं।

असीमित सोच:

हमारा दिमाग शारीरिक बाधाओं से बंधा नहीं है और हम चाहें  तो हम वर्तमान और सीमाओं से परे कल्पना कर सकते हैं, अन्वेषण कर सकते हैं और सपने देख सकते हैं। यह केवल आपकी सोच है जिसकी कोई सीमा नहीं है और यह बहुत ऊपर तक जा सकती है क्योंकि आपके पास वास्तविक तर्क है और आपके संसाधन और दृष्टिकोण इसकी अनुमति देते हैं।

यह केवल हम ही हैं जो इस तथ्य के बावजूद कि आपके पास इसे हासिल करने के लिए पर्याप्त शक्ति और ऊर्जा है, अपनी सोच को सीमा प्रदान करते हैं। यह असीमित सोच हमें उन संभावनाओं पर विचार करने की अनुमति देती है जो पहली नज़र में संभव नहीं लगती हैं।

रखें खुद पर भरोसा,आपकी जीत को कोई ताकत हार में नहीं बदल सकती

बड़ी सोच का महत्व:

प्रकृति ने हमें अपने जीवन में चमत्कार करने की अपार शक्ति और क्षमता प्रदान की है, लेकिन त्रासदी यह है कि हम दर्शक दीर्घा के बीच में फिट होने का आनंद लेते हैं। महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित करने से प्रेरणा मिलती है और हमें उत्कृष्टता के लिए प्रयास करने के लिए प्रेरित किया जाता है।

बड़ी सोच चुनौतियों का सामना करने में नवीनता, रचनात्मकता और लचीलेपन को बढ़ावा देती है। हमें ऊंचा सोचना चाहिए और अपनी सोच को नई ऊंचाइयां प्रदान करनी चाहिए, आश्चर्यजनक रूप से हम अखबारों और टीवी समाचारों में ऐसे चमत्कार रचने वालों से गुजरते रहते हैं। फर्क सिर्फ इतना है कि ऐसे लोगों ने अपनी सोच को नई ऊंचाई प्रदान की है और अपने जीवन में बड़ा मुकाम हासिल किया है.

असीमित सोच और विचारों को किसी सीमा से नहीं बांधे, ऊँचा सोचें 

संतुलन महत्वपूर्ण है-

जबकि बड़ा सोचना महत्वपूर्ण है, लेकिन साथ हीं सुनिश्चित करना भी जरुरी है कि आपके लक्ष्य भी यथार्थवादी हों और आपके मूल्यों और संसाधनों के अनुरूप हों। अपने लक्ष्यों को प्राप्त करना महत्वपूर्ण है, सीखने, बढ़ने और उनके साथ तालमेल बिठाने की प्रक्रिया अत्यधिक मूल्यवान है। 

दुनिया में हर सफल शख्सियत ने तभी बड़ा हासिल किया है, जब उसने बड़ा सोचने का साहस किया। हमें एक मुर्ख और लापरवाह इंसान बनने की मानसिकता को बदलने के लिए तैयार रहना होगा न कि यह सोचना होगा कि प्रकृति ने हमें चमत्कार करने की सारी शक्ति और विचारों से सुसज्जित किया है।

नजरिया जीने का: पढ़ें और भी...

रिश्ते खास हैं, इन्हे अंकुरित करें प्रेम से, जिंदा रखें संवाद से और दूर रखें गलतफहमियों से

इमोशनल हैं, तो कोई वादा नहीं करें और गुस्से में हों तो इरादा करने से परहेज करें


नजरिया जीने का: बेहतर कल के लिए नहीं छोड़िए आशावाद का दामन

Inspiring Thoughts: बेहतर कल के लिए नहीं छोड़िए आशावाद का दामन

नजरिया जीने का: आशावाद एक शक्तिशाली शक्ति है. यह हमें मुश्किल समय में आगे बढ़ने और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद कर सकता है. जब हम आशावाद रखते हैं, तो हम मुश्किलों को स्वीकार करने और उनसे निपटने के लिए अधिक तैयार होते हैं. हम अधिक रचनात्मक होते हैं और नए समाधान खोजने में सक्षम होते हैं. हम अधिक दृढ़ होते हैं और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अधिक प्रयास करते हैं.

आशावाद एक चमत्कार नहीं है. यह एक दृष्टिकोण है. यह एक विश्वास है कि चीजें बेहतर होंगी. यह एक विश्वास है कि हम अपने सपनों को प्राप्त कर सकते हैं. जब हम आशावाद रखते हैं, तो हम अपने जीवन को बेहतर बनाते हैं. हम अपने जीवन को अधिक सार्थक बनाते हैं. हम अपने जीवन को अधिक आनंददायक बनाते हैं.

तो, आइए हम बेहतर कल के लिए आशावाद का दामन न छोड़ें. आइए हम अपने सपनों के लिए लड़ें और कभी भी हार न मानें. आइए हम अपने जीवन को बेहतर बनाएं.

मुसीबतों को देख कर क्यों डरता है,
तू लड़ने से क्यों पीछे हटता है।
किसने तुमको रोका है,
तुम्ही ने तुम को रोका है।
भर साहस और दम, बढ़ा कदम,
अब इससे अच्छा कोई न मौका है।
-नरेंद्र वर्मा


जाहिर है, अगर जीवन है तो बाधाओं का आना स्वाभाविक है और इससे हम इनकार नहीं कर सकते।लेकिन क्या इन बाधाओं और परेशानियों से घबराकर हमें अपनी हार स्वीकार लेनी चाहिए।हाफिज नहीं। सच तो यह है कि जिंधिवमें कितनी भी विषम परिस्थितियों से हमें सामना करना पड़े, हमें आशा और उम्मीद कभी नहीबखिनी चाहिए।

विश्वास कीजिए, आशावादी होना मानव का सबसे अनुपम और प्रभावी लक्षण है जो न केवल आपके परिस्थितियों से लड़ने के लिए शक्ति प्रदान करता है बल्कि एक अपेक्षाकृत अच्छे सुबह किबुम्मिद भी जगाती है।

आप इतिहास को पलट कर देख लीजिए, विपरीत और विषम परिस्थितियों से किसका सामना नहीं हुआ है। लेकिन इतिहास के पन्नों में स्थान उन्हें ही मिली है जिन्होंने अपने कर्मठता से उन परिस्थितियों से भी निकलने का रास्ता बनाया है।

किसी कवि ने क्या खूब कहा है।।
" जो कहे नही करता भी हो 
विश्वास उसी का होता है
जो युग को कर्मठता से मोडे
इतिहास उसी का होता है।"

कहने का आशय यह है कि आशावादी बने रहने में वर्तमान की परिस्थितियों से निकलने की एक उम्मीद तो जिंदा रहती है। लेकिन अगर हम निराशावाद का दामन थाम भी लेते हैं तोवक्या इससे हम स्थिति से निकल जायेंगे।।हरगिज नही।

निराशा मन में आते हीं आपकी शरीर के तमाम अंगों पर पड़ने वाले प्रभाव का कभी अध्ययन किया है। आंखों के आगे अंधेरा छाना, मस्तिष्क में अनावश्यक दर्द, अंदरूनी अंगों के कार्य पद्धति पर अनावश्यक दबाव।।।ऐसी स्थिति में जब बाहर की परिस्थितियों का सामना करने केलिए हमें अंदर से स्ट्रॉन्ग रहने की जरूरत है, हम अंदर के फ्रंट पर ही अगर खुद को निराशावादी बनाकर कमजोर हो जायेंगे तो फिर उस स्थिति से कैसे निकल पाएंगे इसका अंदाजा सहज ही लगाई जा सकती है।।

वही अगर उसी प्रकार की विषम परिस्थितियों के सामने खुद को आशावादी रखते हुए उनका सामना करने की कोशिश करो, आप खुद ही बदलाव को महसूस कर सकते हैं.

बाधाएँ आती हैं आएँ
घिरें प्रलय की घोर घटाएँ,
पावों के नीचे अंगारे,
सिर पर बरसें यदि ज्वालाएँ,
निज हाथों में हँसते-हँसते,
आग लगाकर जलना होगा।
क़दम मिलाकर चलना होगा।
-अटल बिहारी वाजपेयी


सच तो यह है कि आशावादी बने रहने पर हमारी मस्तिष्क भी व्यवहारिक और प्रभावी उपाय सुझाती है साथ ही स्थितियों से निकलने के लिए स्ट्रेटजी और उनके कार्यानयन में भी हमारी मदद करती है।



नजरिया जीने का: फादर्स डे को कैसे खास बनाएं, अपनाएं ये 5 तरीके- महत्वपूर्ण Quotes


फादर डे 2024:
फादर्स डे 2024 को  एक विशेष और यादगार पल बनाने क लिए सबसे जरूरी यह है कि आप अपने पापा को यह महसूस कराएं कि वह आपके लिए कितने महत्वपूर्ण हैं और आप उनसे कितना प्यार करते हैं। याद रखें, भले ही कोई भी पिता सच्चे सुपरहीरो होते हैं जो अपने परिवार के लिए  दिन हो या रात , सर्दी हो या गर्मी या बरसात, अपने कर्तव्य पथ  पर चल रहे होते हैं । क्योंकि उन्हे यह पता होता है कि उनके लगातार चलते कदम उस परिवार के लिए उम्मीद होती है जो घर बैठे उनके इंतजार कर रहे होते हैं। भले कि किस भी पिता के पास  शक्तियों का भंडार नहीं होता है लेकिन उनके पास हमेशा एक महापुरुष होता है।

फादर्स डे हर साल दुनिया भर में हमारे जीवन में पिता के योगदान को याद करने और हमारे जीवन में उनकी उपस्थिति की सराहना करने के लिए मनाया जाता है। जीवन की कल्पना पिता के बिना नहीं की जा सकती, जिन्हें हमारे जीवन में हर मुस्कान का कारण माना जाता है और यही कारण है कि लोग अपने पिता के बलिदान को सरप्राइज पार्टी आयोजित करने, हाथ से बने उपहार बनाने, उनका पसंदीदा भोजन पकाने या उन्हें किसी यात्रा पर ले जाने जैसे यादगार इशारों से स्वीकार करते हैं। भारत सहित कई देश जून के तीसरे रविवार को यह त्यौहार मनाते हैं।

बदलें खुद को: "नजरिया जीने का" के साथ 

जैसा कि पूरी दुनिया फादर्स डे मनाने के अपने-अपने तरीके देख रही है...निश्चित रूप से हमारे लिए पिता के योगदान को याद करने के लिए एक नए जोश और जीत के साथ, यहाँ कुछ सुझाव दिए गए हैं जिनसे हम इस दिन को और भी महत्वपूर्ण बना सकते हैं। हाँ, फादर्स डे मनाने के लिए, हमें यह सोचना चाहिए कि कुल मिलाकर आप इस फादर्स डे को खास बनाने के लिए क्या कर सकते हैं? 

1. पिता के साथ समय बिताना: 

सबसे पहले हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि अपने प्यारे पिता के साथ समय बिताना एक पिता के लिए सबसे महत्वपूर्ण उपहार होगा...हां, इसमें कोई संदेह नहीं है कि बहुत सारे अतिरिक्त तनाव और काम हैं जिन्हें पूरा करना है, लेकिन पिता के साथ समय बिताना एक पिता के लिए उपयुक्त और संतोषजनक उपहार हो सकता है।

2. उनके योगदान को याद रखें: 

किसी के योगदान को याद करने का सबसे उपयुक्त तरीका उसकी प्रशंसा करना है। आपको परिवार के लिए उनके नैतिक और भावनात्मक समर्थन को याद रखना चाहिए, जिस पर हमारे परिवार की मजबूत इमारत खड़ी हुई है। पिता के भावनात्मक और नैतिक और शारीरिक समर्थन के मजबूत कंधों के बिना परिवार की मजबूत इमारत का निर्माण कैसे किया जा सकता है। निश्चित रूप से आपको उनके योगदान को याद रखना चाहिए और उनकी प्रशंसा करनी चाहिए।

3. अपने भावनात्मक क्षणों को साझा करें: 

वास्तव में फादर्स डे केवल एक दिन को याद करने का दिन नहीं है, बल्कि यह उनके साथ अपनी भावनाओं और भावनाओं को साझा करने का दिन है। हां, अपने भावनात्मक और भावुक भावनाओं को उनके साथ महत्वपूर्ण क्षणों में साझा करना न भूलें। आपको अपने परिवार के साथ बिताए जीवन के सभी शानदार पलों को साझा करना चाहिए, खास तौर पर अपने पिता के साथ। आपको उनके सम्मान, प्यार और पूरे जीवन में उनके समर्थन को भी याद रखना चाहिए, जिसके लिए हमारा परिवार उनके साथ खड़ा है।

4. पिता की बात सुनें: 

बेशक पिता हमेशा के लिए आपके परिवार के शारीरिक रूप से मजबूत व्यक्ति नहीं होते, लेकिन वे अभी परिवार के लिए अधिक सम्मान और आदर के हकदार हैं। हां, एक पिता अपने पूरे युवा और महत्वपूर्ण दिन को परिवार के स्तंभ के रूप में खड़ा करने में बिताता है और इसलिए यह आपका कर्तव्य है कि आप हमारे परिवार के लिए इन संघर्षों और संघर्षों के पीछे उनके संघर्षों और कहानियों को सुनें। हो सकता है कि उनके पास हर बार की तरह शारीरिक रूप से मजबूत न हो, लेकिन उनके पास आपके साथ साझा करने के लिए कई कहानियाँ हैं और इसलिए पहले उनकी बात सुनें और फिर अपनी भावनाओं को साझा करें।

5. उन पर ध्यान दें-

चूंकि यह परिवार के साथ पिता के योगदान को याद करने का सबसे अच्छा दिन है, इसलिए अपने पिता की पसंद और शौक का ध्यान रखें। निश्चित रूप से यह पिता का दिन है, इसलिए उन्हें अपने हिसाब से दिन मनाने का फैसला करने दें। हां, आप बस उनका ख्याल रखें और उनका साथ दें, लेकिन उन्हें दिन की योजना के बारे में फैसला करना होगा।

Father  Day महत्वपूर्ण उद्धरण

  • कोई भी व्यक्ति पिता बन सकता है, लेकिन पिता बनने के लिए किसी विशेष व्यक्ति की आवश्यकता होती है। – ऐनी गेडेस
  • पिता आपको यह नहीं बताता कि वह आपसे प्यार करता है। वह आपको दिखाता है। – दिमित्री द स्टोनहार्ट
  • एक बच्चे के जीवन में पिता की शक्ति बेजोड़ है। – जस्टिन रिकलेफ़्स
  • पिता वह होता है जो आपको गिरने पर पकड़ना चाहता है, लेकिन इसके बजाय वह आपको उठाता है, आपको झाड़ता है, और आपको फिर से प्रयास करने देता है। – अज्ञात
  • उसके लिए, पिता का नाम प्रेम का दूसरा नाम था। – फैनी फ़र्न
  • पिता न तो हमें रोकने वाला लंगर है, न ही हमें वहाँ ले जाने वाला पाल, बल्कि एक मार्गदर्शक प्रकाश है जिसका प्रेम हमें रास्ता दिखाता है। – अज्ञात
  • पिता सच्चे सुपरहीरो होते हैं। उनके पास भले ही महाशक्तियाँ न हों, लेकिन उनके पास हमेशा एक महापुरुष होता है। – अज्ञात
  • पिता की मुस्कान एक बच्चे के पूरे दिन को रोशन करने के लिए जानी जाती है। – सुसान गेल
  • पिताजी, आपका प्यार और समर्थन मेरे मार्गदर्शक सितारे रहे हैं। हैप्पी फादर्स डे!
  • मैं जितना बड़ा होता जा रहा हूँ, मेरे पिता उतने ही समझदार होते जा रहे हैं। - जेम्स मैकलॉगलिन
  • कोई भी मूर्ख बच्चा पैदा कर सकता है। पिता बनने के लिए एक आदमी की जरूरत होती है। - फ्रैंकलिन पी. जोन्स
  • पिता वह होता है जिसे आप चाहे कितने भी बड़े क्यों न हो जाएँ, सम्मान की दृष्टि से देखते हैं। - अज्ञात
  • मेरे पिता ने मुझे वह सबसे बड़ा उपहार दिया जो कोई भी किसी दूसरे व्यक्ति को दे सकता है; उन्होंने मुझ पर विश्वास किया। - जिम वाल्वानो
  • एक पिता सौ से अधिक स्कूल मास्टर होते हैं। - जॉर्ज हर्बर्ट
  • पिता सबसे साधारण व्यक्ति होते हैं जिन्हें प्यार ने नायक, साहसी, कहानीकार और गीतकार बना दिया है। - पाम ब्राउन
  • पिता की मुस्कान बच्चे के पूरे दिन को रोशन करने के लिए जानी जाती है।" - सुसान गेल
  • एक अच्छा पिता हमारे समाज में सबसे अनसुना, अप्रशंसित, अनदेखा और फिर भी सबसे मूल्यवान संपत्तियों में से एक है। - बिली ग्राहम

नजरिया जीने का: मोदी के करिश्माई व्यक्तित्व, स्पष्ट दृष्टि और लोकप्रियता ने फेरा विपक्षी मंसूबों पर पानी

Najariya: Why Modi is Unbeatable Against Opposition

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार शपथ लेकर विपक्ष को यह क्लियर मैसेज दे दिया है कि वे इतनी आसानी से हार मानने वाले नही है। नरेंद्र मोदी  जिन्होंने हमेशा से चुनाव को अपने खुद के दम से न केवल भाजपा और एन डी ए , बल्कि विपक्ष के मुद्दों के स्ट्रैटिजी को भी वो खुद तैयार करने कि जिम्मेदारी बखूबी निभाते हैं, वो अक्सर कहा करते थे कि विपक्ष को उनके राजनीतिक सूझ बूझ पर किसी प्रकार की कोई शंका नहीं होनी चाहिए। इस बार भी बहुमत से दूर होते हुए भी बिना किसी परेशानी के जिस प्रकार से उन्होंने गठबंधन वाली सरकार शुरू किया है, उसका संदेश भी साफ है कि वो समझौता करने वाले नही हैं।

इसमें कोई संदेह नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो अपने कौशल और वाकपटुता के साथ ही राजनितिक सूझबूझ के लिए भी जाने जाते हैं.और उनकी इस खूबियों का कायल उनके विरोधी भी हैं. उनके विरोधी भी मोदी को भली भांति जानते हैं कि उन्हें हराना इतना आसान नहीं है क्योंकि मोदी का करिश्माई व्यक्तित्व, स्पष्ट दृष्टि और मजबूत लोकप्रियता उन्हें और भी अजेय बनाती है.
.
प्रधान मंत्री मोदी के व्यक्तित्व की सबसे बड़ी विशेषता यही है कि वह अपने विरोधियों को कभी कोई मौका नहीं देते हैं और उनके वार और आक्रमण की तीर में ही उनके लिए मुद्दे छुपे होते हैं। यहां तक कि उनके आलोचक भी आसानी से विपक्ष के सामने आत्मसमर्पण नहीं करने के उनके कौशल और उनके दृढ़ निश्चय की सराहना करते हैं।

 विपक्षी दलों और नेताओं के मुद्दे और गलतियाँ आम तौर पर मोदी को एक मंच प्रदान करते हैं और वे विरोधी दलों को अपने मुद्दों से हराते हैं। नरेंद्र मोदी अपने कदमों से अपने आलोचकों को प्रभावित करने की इच्छाशक्ति और कौशल के लिए जाने जाते हैं।

 यह उसके स्वभाव की विशेषता है और आसपास की चीजों से निपटने की उसकी क्षमता भी। इसलिए उनके विरोधी भी बेशक चुपचाप और कभी-कभार उनकी तारीफ करते हैं।

मोदी का करिश्माई व्यक्तित्व:

  • उत्साही और प्रेरक वक्ता: मोदी अपनी ऊर्जावान और प्रेरक भाषणों के लिए जाने जाते हैं। वे जनता से जुड़ने और उन्हें प्रेरित करने में माहिर हैं।
  • मजबूत नेतृत्व: मोदी एक मजबूत और निर्णायक नेता के रूप में देखे जाते हैं। वे अपनी नीतियों पर दृढ़ रहते हैं और कठिन परिस्थितियों में भी पीछे नहीं हटते।
  • लोकप्रिय छवि: मोदी एक साधारण और जमीन से जुड़े नेता के रूप में लोकप्रिय हैं। वे सोशल मीडिया का सक्रिय रूप से उपयोग करते हैं और युवाओं से जुड़ने में सफल रहे हैं।

स्पष्ट दृष्टि:

  • विकास और समृद्धि: मोदी का मुख्य लक्ष्य भारत को एक विकसित और समृद्ध राष्ट्र बनाना है। उन्होंने 'मेक इन इंडिया', 'डिजिटल इंडिया' और 'स्वच्छ भारत अभियान' जैसे कई महत्वाकांक्षी कार्यक्रम शुरू किए हैं।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा: मोदी राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर भी बहुत गंभीर हैं। उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है और भारत की सैन्य शक्ति को मजबूत करने के लिए कई कदम उठाए हैं।
  • सामाजिक न्याय: मोदी सभी वर्गों के लोगों के लिए समान अवसरों की वकालत करते हैं। उन्होंने गरीबों और वंचितों के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं।

मजबूत लोकप्रियता:

  • चुनावी सफलता: मोदी 2014 और 2019 में लोकसभा चुनावों में भारी बहुमत से जीते। यह उनकी लोकप्रियता का प्रमाण है।
  • जन समर्थन: मोदी देश भर में, विशेष रूप से युवाओं में, बहुत लोकप्रिय हैं। उनकी नीतियों और उनके नेतृत्व में लोगों का विश्वास है।
  • विश्व नेता: मोदी को एक मजबूत और प्रभावशाली विश्व नेता के रूप में देखा जाता है। उन्होंने कई देशों के साथ संबंधों को मजबूत किया है और भारत की वैश्विक छवि को बेहतर बनाया है।

नरेंद्र मोदी अलग तरीके से काम करते हैं और शायद इसीलिए वे नरेंद्र मोदी हैं। 2014 में अपने शपथ ग्रहण समारोह के दौरान याद करें जब उन्होंने समारोह के दौरान सभी सार्क देशों के प्रमुखों को बुलाने का फैसला किया था, जिसकी विशेषज्ञों द्वारा व्यापक रूप से सराहना की गई थी। निश्चित रूप से इन राष्ट्रों के प्रमुख को आमंत्रित करने का कदम पूरी दुनिया को स्पष्ट और प्रभावशाली संदेश दिया ।

उसके बाद तो मोदी ने देश से परे हटकर दुनिया में अपने व्यक्तित की ऐसे छाप छोड़ी की दुनिया के दिग्गज देशों की राष्ट्रपतियों को पीछा छोड़कर आज वे दुनिये के सबसे लोकप्रिय नेताओं की सूची में सर्वोच्च स्थान पर हैं. 

नजरिया जीने का: पढ़ें और भी...

रिश्ते खास हैं, इन्हे अंकुरित करें प्रेम से, जिंदा रखें संवाद से और दूर रखें गलतफहमियों से

इमोशनल हैं, तो कोई वादा नहीं करें और गुस्से में हों तो इरादा करने से परहेज करें

स्व-अनुशासन के महत्त्व को समझे और जीवन को बनाएं सार्थक 

रखें खुद पर भरोसा,आपकी जीत को कोई ताकत हार में नहीं बदल सकती

जाने क्या कहते हैं ये हस्तियां नागरिक विश्वास और समावेशी विकास के सन्दर्भ में




नजरिया जीने का: सकारात्मक सोचें, सकारात्मक पक्षों को देखें और सकारात्मक दृष्टिकोण रखें

Inspiring Thoughts Positive Attitude and its Importance in Life
नजरिया जीने का:  
क्या कभी आपने  इस विषय पर  विचार किया है कि आखिर आज के भाग-दौड़ के निवान मे सकारात्मक रहना और पाज़िटिव सोच क्यों महत्वपूर्ण है? आपको भले ही या अविसविश्वानीय लगे लेकिन यह सच है कि सकारात्मक सोच महत्वपूर्ण है क्योंकि यह शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर लाभकारी प्रभाव डालती  है। जो लोग जीवन के प्रति अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हैं, वे तनाव से बेहतर तरीके से निपटते हैं, उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है और समय से पहले मृत्यु का जोखिम कम होता है।इस सच्चाई से भला किसे इनकार हो सकता है कि जीवन में मुश्किलें आती रहती हैं और जीवन कभी भी फूलों का सेज नहीं रहा। आप इतिहास उठाकर देख लें, जिसकों जीवन मे जितना ऊपर जाना होता है, उसके रास्ते मे प्रकृति ने उतने ही बाधाओं एयर काँटों को बिछाकर उनका परीक्षा लेती है। कहते हैं न,
" वही पथ क्या  पथिक परीक्षा क्या,  जिस पथ मे बिखरे शुल न हो। 
नाविक कि धैर्य परीक्षा क्या,  यदि धाराएं प्रतिकूल न हो। 
सकारात्मक दृष्टिकोण हमें सकारात्मक सोचने में आसान बनाता है और यह हमें चिंताओं और नकारात्मक सोच से बचने की कला भी सिखाता है.

लेकिन याद रखें, जीवन मे इन बाधाओं और परेशानियों से मुक्ति पाने के लिए हमें सकारात्मक सोच रखना बहुत ज़रूरी है। सकारात्मक सोच एक विकल्प है।  यह हमेशा आसान नहीं होता है, लेकिन यह अभ्यास के साथ बेहतर होता जाता है। आपको हमेशा इसका ध्यान रखना होगा कि जिन लोगों के साथ आप समय बिताते हैं, उनका आपके मूड पर बड़ा प्रभाव पड़ सकता है इसलिए हमेशा हीं सकारात्मक और उत्साही लोगों के साथ समय बिताने कि कोशिश करें।  

जीवन में सफलता के लिए यह जरुरी है कि हम नकारात्मक सोच और ऐसी प्रवृति वाले लोगों से एक खास दुरी बनाकर अपने प्रयासों पर फोकस करें। यह सकारात्मक दृष्टिकोण का अभ्यास हीं है जो आपके जीवन में आशावाद और आशावादी दृष्टिकोण लाता है। 


बेशक अगर सकारात्मक और आशा के अनुरूप घटने वाली घटनाओं का हम स्वागत  करते हैं लेकिन थोड़ी से कुछ अप्रिय घटनाएं  हमारे  जीवन में दस्तक  देती  हैं कि हम अपने जीवन और परिस्थितियों को कोसना आरम्भ कर देते हैं.....



 .... लेकिन हमें यह याद रखना होगा कि केवल सकारात्मक दृष्टिकोण ही हमें जीवन के दैनिक जटिल और अप्रिय मामलों से अधिक आसानी से निपटने में मदद करता है।

धैर्य और आत्मविश्वास का नहीं छोड़े दामन.... मिलेगी विपरीत परिस्थितियों में भी सफलता

... यह सकारात्मक दृष्टिकोण का अभ्यास है जो आपके जीवन में आशावाद और आशावादी दृष्टिकोण लाता है। सकारात्मक दृष्टिकोण हमें सकारात्मक सोचने में आसान बनाता है और यह हमें चिंताओं और नकारात्मक सोच से बचने की कला भी सिखाता है...


 अपने जीवन में सफल होने के लिए, यदि कोई आपके जीवन में कुछ रचनात्मक परिवर्तन की उम्मीद कर रहा है, तो सकारात्मक दृष्टिकोण को जीवन के तरीके के रूप में अपनाने की आवश्यकता है।


Inspiring  Thoughts: आपकी प्रसन्ता में छिपा है जीवन की सफलता का रहस्य.... 

Attitude  भले एक छोटी से चीज सही लेकिन सच यह है कि जीवन के इसी बड़े और महत्वपूर्ण फर्क लाने के लिए यह बहुत प्रभावी भूमिका निभाती है....


 सकारात्मक और आशावादी दृष्टिकोण  की मदद से कई लोगों यहाँ तक की कई प्रसिद्ध हस्तियों ने कई बड़ी बीमारियों या संघर्षों के साथ अपनी लड़ाई जीत ली है.... वावजूद इस तथ्य के कि जीतना मुश्किल था….वास्तव में केवल एटीट्यूड ही काफी नहीं है..लेकिन जीवन में हमारी सफलता के लिए सकारात्मक और आशावादी दृष्टिकोण की आवश्यकता है...


 ..... मनोवृत्ति मूल रूप से वह तरीका है जिसमें हम किसी चीज़ के प्रति व्यवहार करते हैं या सोचते हैं या महसूस करते हैं ... आम तौर पर हम अपनी सोच, भावनाओं तथा  अन्य पहलुओं के संदर्भ में अपना दृष्टिकोण प्रदर्शित करते हैं। वास्तव में आपकी सोच गठन के पीछे मूल कारण है किसी चीज के प्रति आपका नजरिया...


यदि आप सकारात्मक सोचने के आदि  हैं और किसी भी घटना का केवल सकारात्मक पक्ष देखते हैं तो आप अपने जीवन के बारे में सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हैं ... आप जिस मुद्दे से निपट रहे हैं, उसके बारे में बात करें ...और इसके लिए नेगेटिव विचारों को अपने मन में घर नहीं करने दें...

याद रखें... प्रकृति भी   आपके अंदर उत्पन्न विचारों को हीं सशक्त करने और उसे पूरा करने की लिए बल देती है... और इसलिए हैं हमें बचपन से यह पढ़ाया जाता है कि -" हमें अपने मन में बुरे विचारों को  लाने से बचना चाहिए..... "

आपका Attitude  आपके आस-पास हो रही घटनाओं के बारे में आपकी राय बनाने में आपकी मदद करता है... सोचने के तरीके ने आपके विचारों को तय किया और निश्चित रूप से यह आपके कार्यों में दिखाई देता है। जिस वातावरण में आप रह रहे हैं, वह भी आपके दृष्टिकोण के प्रभाव  प्रदर्शित करता है...

दुनिया में ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने अपनी मामूली चोटों और जीवन की कठिनाइयों के कारण जीवन के निराशावादी और नकारात्मक रवैये के कारण दम तोड़ दिया है….

बदल सकते हैं आपदा को अवसर में…जानें कैसे 

अपने जीवन में हर असफलता के लिए अपने आस-पास की परिस्थितियों को दोष न दें… आपके जीवन में कठिन परिस्थितियों से निपटने के लिए अपनी मानसिकता और दृष्टिकोण को बदलने की आवश्यकता है…।

आपके सकारात्मक और आशावादी दृष्टिकोण में आपके जीवन में आपकी हर सफलता/असफलता का कारण प्रदान करने की शक्ति है और इसलिए अपने सोचने के तरीके को नज़रअंदाज़ न करें… निश्चित रूप से यह आपके जीवन में कठिन परिस्थितियों से निपटने का मूल तरीका है…

लॉकडाउन और ऑनलाइन पढ़ाई: बच्चों से अधिक है पेरेंट्स की भूमिका, अपनाएँ ये टिप्स


आपको अपने जीवन में आने वाली हर घटना के साथ सकारात्मक दृष्टिकोण रखना होगा चाहे वह पेशेवर हो या व्यक्तिगत…। यह एक भावनात्मक स्थिति हो सकती है जिस पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है… सभी घटनाओं से निपटने के लिए आपको सकारात्मक और आशावादी रवैया रखना होगा। मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक सहित ....



विश्वास करें….आपमें परिस्थितियों को बदलने के लिए एटीट्यूड की शक्ति है क्योंकि आप अपनी खुद की परिस्थितियों के निर्माता हैं… अपने सकारात्मक और आशावादी दृष्टिकोण के साथ।

मोदी 3.0: मिलिये उन पूर्व मुख्यमंत्रियों से जो अब टीम मोदी के हिस्सा हैं

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इतिहास रच दिया जब उन्होंने लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में वापसी किया है। प्रधान मंत्री के रूप मे तीसरी बार शपथ लेने के साथ हीं अब वे जवाहरलाल नेहरू के बाद या कारनामा करने वाले दूसरे प्रधानमंत्री बन गए। आज मंत्री पद के लिए शपथ लेने वाले नेताओं मे सबसे बड़ी खासियत यह रही कि लगभग 6 ऐसे मंत्री जिन्होंने शपथ लिया वे अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्री रह चुके हैं जैसे राजनाथ सिंह, शिवराज सिंह चौहान, मनोहर लाल खट्टर, एचडी कुमारस्वामी, सर्बानंद सोनोवाल और जीतन राम मांझी।

उल्लेखनीय है कि आज से शुरू होने वाले मोदी 3.0 मंत्रिमंडल मे एनडीए के सहयोगी पार्टियों जिनमे शामिल हैं चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी, नीतीश कुमार की अगुवाई वाली जेडीयू, चिराग पासवान की एलजेपी, एकनाथ शिंदे की शिवसेना, पवन कल्याण की अगुवाई वाली जन सेना और जयंत चौधरी की आरएलडी। इन दलों से भी आज की मंत्रियों ने शपथ लिया।

मिलिये उन मुख्यमंत्रियों से जिन्होंने अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्री पद पूर्व मे सफलता पूर्वक संभाला और अब से मोदी 3.0 मे मंत्री पद का शपथ लिए हैं।

  

राजनाथ सिंह: लखनऊ, उत्तर प्रदेश से भाजपा सांसद के रूप मे चुनकर आए हैं। पिछली केन्द्रीय सरकार मे वे रक्षा मंत्री का पद संभाल चुके हैं।  

  • राज्य-उत्तर प्रदेश
  • मुख्यमंत्री काल- 2000 से 2002 तक
  • क्रम 19वां
  • पार्टी-भाजपा

 

शिवराज सिंह चौहान (विदिशा मध्य प्रदेश से भाजपा सांसद के रूप मे चुनकर आए हैं।

  • राज्य- मध्य प्रदेश
  • मुख्यमंत्री काल- 2005 से 2018 तक और फिर 2020 से 2023
  • पार्टी-भाजपा

 





मनोहर लाल खट्टर: करनाल, हरियाणा से भाजपा के रूप मे चुनकर आए हैं।


  • राज्य- हरियाणा
  • मुख्यमंत्री काल- 2014 से मार्च 2024 तक
  • क्रम 10वां
  • पार्टी-भाजपा

 





सर्बानंद सोनोवाल: डिब्रूगढ़, असम से भाजपा के सांसद के रूप मे चुनकर आए हैं।

  • राज्य- असम
  • मुख्यमंत्री काल- 2016 से 2021 तक
  • क्रम 14 वां
  • पार्टी- भाजपा

 



एचडी कुमारस्वामी: कर्नाटक से मंड्या से जेडी(एस) के संसद के रूप मे चुनकर आए हैं।

  • राज्य- कर्नाटक
  • मुख्यमंत्री काल- 2006 से 2007 और 2018 से 2019 तक
  • पार्टी- जेडी(एस

जीतन राम मांझी:  वह बिहार के गया संसदीय क्षेत्र से हम पार्टी कि टिकट पर साँसद चुनकर आए हैं।

  • राज्य- बिहार
  • मुख्यमंत्री काल- 2014 से फरवरी 2015
  • क्रम 23 वां
  • पार्टी- भाजपा